कॉल ड्रॉप बनी बड़ी मुसीबत

कॉल ड्रॉप एक बड़ी समस्या बनती जा रही है और इसने सरकार को भी कठघरे में खड़ा कर दिया है। विपक्ष लगातार बढ़ते हमलों के बीच मंगलवार को संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद कहा कि कॉल ड्रॉप को लेकर सरकार बहुत गंभीर है औऱ टेलीकॉम ऑपरेटरों की सेवाओं की गुणवत्ता का ऑडिट कराया जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि अब सरकारी भवनों पर टावर लगाए जाएंगे। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कॉल ड्रॉप में कमी नहीं लाने वाले ऑपरेटर को हतोत्साहित करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। इसके लिए ट्राई को उपाय करने को कहा गया है।

एक संवाददाता सम्मेलन में प्रसाद ने कहा कि कॉल ड्रॉप की शिकायत और टावरों से होने वाला विकरण का विरोध दोनों साथ-साथ नहीं चल सकता। टेलीकॉम क्षेत्र के लिए टावर महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर है और इसके बगैर गुणवत्ता वाली सेवाएं नहीं दी जा सकती।
उन्होंने कहा कि कॉल ड्रॉप से निजात दिलाने के लिए टेलीकॉम कंपनियों को कुछ निर्देश दिए गए हैं जिसमें उन्हें आवश्यकता अनुसार समय-समय पर रेडियो फ्रीक्वेंसी में सुधार करने के लिए कहा गया है।

आपको बता दें कि कॉल ड्रॉप की शिकायतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है औऱ अब ये राजनीतिक मुद्दा बन गया है। कुछ दिन पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने भी इसके लिए रविशंकर प्रसाद की खिंचाई की थी।

Top Story, अर्थव्यवस्था, राज्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *