नेपाल और भारत में भयंकर भूकंप तो बांग्लादेश, चीन और तिब्बत में भी तबाही

नेपाल में शनिवार (दिन के लगभग  11.48 बजे) को रिक्टर स्केल पर 7.9 तीव्रता के शक्तिशाली भूकंप से लगभग 1,500 लोगों की मौत हो गयी.

 

 

 

 

एक यूनेस्को विश्व विरासत द्वारा घोषित स्थल तथा राजधानी में सदियों पुरानी धरहरा मीनार सहित कई प्रमुख इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं।

.

 

 

यह बीते 80 वर्षों का सबसे भयावह भूकंप था। भूकंप का केंद्र काठमांडो से उत्तर पश्चिम में करीब 80 किलोमीटर दूर लामजुंग में था.

 

 

.

 

 

चीन के साथ ही पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी भूकंप महसूस किया गया।

 

 

 

भूकंप की तीव्रता 7.9 आंकी गई और इसके बाद 4.5 अथवा इससे अधिक तीव्रता के कम से कम 16 झटके महसूस किए गए।

.

 

 

 

 

 

 

.

बिहार में 23 लोगों की मौत हुई है, जबकि उत्तर प्रदेश में 8 लोगों के मारे जाने की खबर आई है।

 

 

 

 

 

.बांग्लादेश में शनिवार को आए भूकंप के बाद दहशत में अपनी फैक्टरी से बाहर भाग रहे करीब 40 कामगारों के घायल होने की खबर है.

 

 

 

 

 

नेपाल में 7.9 तीव्रता वाले भूकंप के तेज झटके से दक्षिण पश्चिम चीन के तिब्बत स्वायत्तशासी क्षेत्र में 83 वर्षीय एक महिला सहित कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई.

.

 

 

 

 

 

 

 

.

शुरुआत में रिक्टर स्केल पर 7.5 मापे गए भूकंप को बाद में यूएसजीएस ने सुधार कर 7.9 बताया।

Top Story, अंतर्राष्ट्रीय, अध्यात्म, पर्यावरण, शासन, स्वास्थ्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *