किसानों की आर्थिक बदहाली और फलस्वरूप ‘आत्महत्या’

सारदा बैनर्जी देश में किसानों की आर्थिक बदहाली और उसके परिणामस्वरूप उनकी आत्महत्या की घटनाएं पिछले दो दशकों से...

संसार को कल्याणमय क्रीडांगन बनाइये

ब्रह्माकुमार राम लखन विश्व परिवार की भावना और विश्व कल्याण की कामना ही सच्ची-सच्ची राष्ट्रीयता है। जिस तरह अनेकों...

दूरदर्शन के विज्ञापनों का बदलता स्वरुप

रंजना दुबे अपितु साहित्य समाज का दर्पण है, परन्तु मौजूदा समय में विज्ञापन समाज का दर्पण बन रहा है|...

भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी के 125वे जन्म दिवस पर विशेष

वीरेन्द्र कश्यप बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर का मानना था कि जातिवाद के कारण ही भारत में राष्ट्र्र भावना नही पनप...

छात्राओं से ज्यादा छात्र सेक्स वर्कर बनना चाह रहे ब्रिटेन में ?

ब्रिटेन के स्वांसी विश्वविद्यालय यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर क्रिमिनल जस्टिस ऐंड क्रिमिनॉलजी द्वारा करवाए गए एक ताजा अध्ययन के...

क्या संत वैलेंटाइन से कम हैं दशरथ मांझी !

आज दशरथ मांझी बड़ा नाम है बिहार का।  बहुत बड़ा नाम है दशरथ मांझी का मेरी नजरों में।  ना केवल बड़ा...

अन्ना को मीडिया ने नहीं,कांग्रेस ने नायक बनाया

 राजदीप सरदेसाई आमतौर पर मीडिया जिन्हें चढ़ाता है, उन्हें गिरा भी देता है। सीएनएन आईबीएन के इंडियन ऑफ द...

क्या है स्टिंग ऑपरेशन ?

बिनित भारती स्टिंग शब्द 1930 के अमेरिकन स्लेंग से निकला है जिसका अर्थ है, चोरी या धोखेबाजी की क्रिया,...