Home » पर्सनल फायनेंस You are browsing entries filed in “पर्सनल फायनेंस”

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

HRD4

January 26th, 2016 | Posted in Top Story,अंतर्राष्ट्रीय,अध्यात्म,अर्थव्यवस्था,खेल-कूद,नारी - सशक्तिकरण,पर्यावरण,पर्सनल फायनेंस,फिल्म,मनोरंजन,युवा मंच,राजनीति,राज्य,विकास,विचार,शासन,शिक्षा,संस्कृति,सामाजिक,साहित्य,स्वास्थ्य | Read More »

सूचना के अधिकार से सुलझाएं वित्तीय उलझनें

ttttttttttttt

राम सिंह इन दिनों बैंक की कारस्तानी से काफी परेशान चल रहे हैं। सारे दस्तावेज जमा करने के बाद बैंक ने उनका होम लोन आवेदन रद्द कर दिया। ऐसा ही कुछ हाल श्याम लाल का है। वह बीमा पॉलिसी मैच्योर होने के बाद उसका रिटर्न लेने के लिए महीनों से परेशान हैं। बीमा कंपनी उन्हें [...]

February 17th, 2012 | Posted in Top Story,अर्थव्यवस्था,पर्सनल फायनेंस,युवा मंच,राज्य,विकास,विचार,शासन,संस्कृति,सामाजिक,स्वास्थ्य | Read More »

अब कंसोलिडेटेड एकाउंट स्टेटमेंट जानना हुआ आसान

अर्णव पांड्या काफी दिनों तक म्यूचुअल फंड निवेशकों ने अपने विभिन्न यूनिट होल्डिंग्स के लिए एक ही एकाउंट स्टेटमेंट से काम चलाया है। दरअसल इसी स्टेटमेंट के जरिए एमएफ निवेशक द्वारा किए गए निवेश की पूरी जानकारी मिलती है। इसलिए निवेशक के लिए यह बहुत आवश्यक हो जाता है कि वे पूरे स्टेटमेंट की पड़ताल [...]

February 13th, 2012 | Posted in Top Story,अंतर्राष्ट्रीय,अर्थव्यवस्था,पर्सनल फायनेंस,युवा मंच,राज्य,विकास | Read More »

यदि आपकी कंपनी करे आप ही से फर्जीवाड़ा

Fraud

एस एस खान पिछले दिनों इंडियन एक्सप्रेस में एक मजेदार खबर पढऩे को मिली। अखबार ने अपने पाठकों को सूचित किया था कि किंगफिशर एयरलाइंस ने अपने कर्मचारियों के तनख्वाह से काटे गए टीडीएस की रकम को इनकम टैक्स विभाग में जमा नहीं कराया है। टीडीएस की यह रकम करीब 422 करोड़ रुपये (पिछले दो [...]

February 3rd, 2012 | Posted in Top Story,अंतर्राष्ट्रीय,अर्थव्यवस्था,पर्सनल फायनेंस,विकास,विचार,शासन,सामाजिक | Read More »

ऑनलाइन के जमाने में घोड़ागाड़ी का भला क्या काम

online-account-managing-300

प्रकाश प्रियदर्शी  सूचना क्रांति के इस दौर में तकनीक ने जीवन के हर क्षेत्र में अपनी जोरदार उपस्थिति दर्ज कराई है। तकनीक ने अपनी दक्षता से लोगों के जीवन को सरल एवं सुगम बना दिया है। जहां तक बैंकिंग परिचालन की बात है तो तकनीक के इस्तेमाल से अब घंटों का काम मिनटों में हो [...]

November 17th, 2011 | Posted in अंतर्राष्ट्रीय,अर्थव्यवस्था,पर्सनल फायनेंस,विकास,विचार,शासन,शिक्षा,संस्कृति,सामाजिक,स्वास्थ्य | Read More »

120x600 ad code [Inner pages]
300x250 ad code [Inner pages]

Recently Commented